पाठकों के पत्र

मुंबई पुलिस ने राज कुंद्रा पर अश्लील वीडियो बनाने के आरोप लगाए हैं। यह घटना पूरे देश के लिए बहुत ही घृणित और शर्मनाक है क्योंकि उनकी पत्नी शिल्पा शेट्टी एक प्रसिद्ध फिल्म स्टार हैं। कुंद्रा के पिता ब्रिटेन में कंडक्टर थे। उन्होंने वहीं से शुरुआत की, कड़ी मेहनत के साथ अपना खुद का व्यवसाय

वैश्विक महामारी की तीसरी लहर के आने की भविष्यवाणी विशेषज्ञ कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कुछ दिन पहले इस लहर के लिए चिंता जताई है। कोरोना का काला साया अभी दुनिया पर मंडरा रहा है। सभी देश इस काले अंधेरे को दूर करने के प्रयास अपने स्तर पर कर रहे हैं। हमारे

अफगानिस्तान को हमेशा मध्य एशिया के लिए भारत का प्रवेश द्वार माना जाता है। लेकिन आजकल यह देश बहुत परेशानी में है। तालिबान अफगानिस्तान में बहुत सक्रिय हो गया है और उसने देश के 80 फीसदी क्षेत्र पर कब्जा करने का दावा किया है। अमरीका और नाटो ने सेना के जवानों को वापस बुला लिया

कुछ दिनों पहले की बात करें तो देश के कई राज्यों में पर्याप्त बारिश नहीं हो रही थी। लोगों का गर्मी के कारण हाल बेहाल हो गया था। इस कम बारिश के लिए लोग खुद ही जिम्मेदार हैं क्योंकि पेड़ों का कटान बड़े स्तर पर हो रहा है। अखबारों में खबरें छपती रही कि आज

हाल में भारी बारिश के कारण जिन लोगों को जान-माल का नुकसान हुआ है, उन लोगों को पर्याप्त मुआवजा दिया जाना चाहिए। जिला कांगड़ा, कुल्लू तथा अन्य जिलों में बादल फटने तथा भारी बारिश से लोगों के घर, जमीन तथा अन्य संपदा बाढ़ में बह गई है। अब इनके पास रहने के लिए न तो

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने गैंगस्टरों का सफाया करने के लिए एक विशेष अभियान शुरू किया है। जैसे ही सरकार सत्ता में आई, उसने घोषणा की कि सभी गैंगस्टर और अन्य अपराधी या तो ईमानदार हों और अपना अवैध पेशा छोड़ दें या राज्य छोड़ दें। इस सलाह को गैंगस्टरों ने हल्के में लिया।

जनता और विशेषकर पर्यटकों से अनुरोध करना चाहता हूं कि हिमाचल में मुख्यमंत्री ने जन-साधारण एवं पर्यटकों के लिए चरणबद्ध तरीके से काफी छूट दे दी है। परंतु हममें से अधिकतर एसओपी का पालन न करते हुए, मास्क का प्रयोग, सामाजिक दूरी एवं स्वच्छता इत्यादि नियमों का पालन करने में लापरवाही कर रहे हैं। पर्यटक

इनसान ने विज्ञान के क्षेत्र में बेशक खूब तरक्की कर ली है, लेकिन प्राकृतिक आपदाएं अपना ताडंव करके इनसान को अहसास दिलाती हैं कि कुदरत के आगे इनसान अभी भी बौना है। हर साल बरसात के मौसम में देश के विभिन्न राज्य बाढ़ की चपेट में आते हैं, लेकिन न तो केंद्र सरकार और न

जनसंख्या वृद्धि से पैदा होने वाली समस्याओं के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से हर वर्ष विश्व जनसंख्या दिवस विश्वभर में 11 जुलाई को मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र ने एक रिपोर्ट में खुलासा किया है कि अगले 30 वर्षों में विश्व की जनसंख्या दो अरब तक बढ़ने की संभावना है। अगले लगभग