इंटरनेट स्लो… बिजली के कट… कैसे करें ऑनलाइन पढ़ाई

By: नरेन कुमार, धर्मशाला    Nov 24th, 2020 12:16 am

कोरोना महामारी के चलते आज पूरा विश्व थम सा गया है। ऐसी ही स्थिति शिक्षण संस्थानों में भी है।  कुछ समय पहले सरकार ने नौंवीं से जमा दो कक्षा तक के बच्चों को स्कूलों में आने की छूट दी थी, लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते सरकार कोे दोबारा स्कूलों को बंद करने के निर्देश देने पड़े। अब स्कूली बच्चे घरों में रहकर जहां ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त कर रहे है। वहीं, मोबाइल फोन ऐप के माध्यम से परीक्षाएं दे रहे है। बच्चों को एग्जाम ऑनलाइन देते वक्त क्या-क्या दिक्कतें आ रही हैं। क्या इंटरनेट ठीक चल रहा है? क्या बिजली के बार-बार लग रहे कट तंग तो नहीं कर रहे हैं । ‘दिव्य हिमाचल’ ने इस पर छात्रों की राय जानी तो कुछ यूं सामने आए जज्बात….  नरेन कुमार, धर्मशाला                (एचडीएम)

ऑनलाइन पढ़ने में दिक्कत तो एग्जाम कैसे होगा

धर्मशाला की पारूल ठाकुर का कहना है कि शहर के मुख्य स्थानों पर ही इंटरनेट व बिजली की सूचारू सुविधा नहीं है। ऐसे में शहर के अन्य स्थानों पर होने पर ऑनलाइन व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो जाती है।  कई छात्रों की कक्षाएं ऑनलाइन लगाने में दिक्कतें हो रही है। ऐसे में ऑनलाइन परीक्षाएं भी होना मुश्किल है।

ऑनलाइन परीक्षा से नकल को मिलेगा बढ़ावा

सोनाली धीमान का कहना है कि ऑनलाइन एग्जाम से होशियार बच्चा कड़ी परिश्रम करने वाला बच्चा पीछे रह सकता है, क्योंकि ऑनलाइन एग्जाम नकल को बढ़ावा देता है । परिश्रम करने वाले बच्चों का हौसला कम होता है। ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों को मोबाइल नेटवर्क ठीक न होने की समस्या से जूझना पड़ रहा है और बिजली की समस्या तो रोजाना आम बनी हुई है।

बिजली के बार-बार कट से पढ़ाई ठप

छात्र अश्मित का कहना है कि प्रतियोगी परीक्षाएं ऑनलाइन होती है। दसवीं, जमा दो व हिमाचल की अन्य प्रतियोगी परीक्षाएं ऑनलाइन  नहीं होती है। ऐसा सिस्टम ही अब तक डिवेलप नहीं हो पाया है। आए दिन मोबाइल में इंटरनेट का सिग्नल न होने से व कई बार बिजली के कट से ऑनलाइन शिक्षा में दिक्कत आ रही है।