कोरोना की मार…थम गया कारोबार…वेल्ले हो गए दुकानदार

By: May 30th, 2020 12:12 am

खेल नगरी धर्मशाला में लॉकडाउन के खुलने के बाद भी कारोबार पटरी पर नहीं लौट पाया है। मंदी के चलते दुकानदारों की दिक्कतें बढ़ गई है। दिनभर ग्राहकों का इंतजार करने के बाद निराश घरों को लौट रहे हैं। ‘दिव्य हिमाचल’ ने जब दुकानदारों की नब्ज टटोली तो यूं सामने आए जज्बात

… दिव्य हिमाचल ब्यूरो-धर्मशाला

लॉकडाउन के बीच किराना की बढ़ी डिमांड

किराना कारोबारी संजीव कायस्था का कहना है कि कोरोना के बीच राशन की डिमांड बढ़ी है। लोगों में कोरोना ने डर पैदा कर दिया था, जिसके चलते शुरुआत में तो ऐसे भी हालात बने कि लोग ज्यादा से ज्यादा राशन भरवाने लगे, लेकिन अभी हालात सामान्य हैं। कुछ खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति में जरूर कमी आई है।

कोरोना ने चौपट किया मिठाई का कारोबार

ढोगरू स्वीट शॉप के मालिक अंशुल शर्मा का कहना है कि कोरोना के चलते उनके कारोबार भी बड़ा असर पड़ा है। किसी भी तरह का कोई बड़ा या छोटा फंक्शन न होने के चलते लोगों की आवाजाही पर ब्रेक लग जाने से मिठाई कारोबारी प्रभावित हुआ है। लॅकडाउन खुलने के बाद सुधार की उम्मीद थी, लेकिन अभी हालात सामान्य होने में समय लगेगा। कोरोना के खौफ में लोग अभी अपने अपने घरों में ही।

सामान की सप्लाई पूरी न होने से दुकानदार तंग

कारोबारी मुनीष लुथरा का कहना है कि लॉकडाउन के बाद उम्मीद जग्गी थी कि अब फिर से हालात सामान्य होंगे, लेकिन अभी हालात सुधरने में समय लगेगा। लुथरा का कहना है कि छोटे छोटी चीजों की सप्लाई पूरी नहीं मिल रही है। इसके चलते अन्य कारोबारियों से मांग कर उपभोक्ताओं की आवश्यकता को पूरा किया जा रहा है।

महामारी से कारोबार पर बुरा असर, दिक्कतें बढ़ीं

कोतवाली बाजार के कारोबारी अजिंद्र चकवाल का कहना है कि कोरोना ने कारोबार को बुरी तरह से प्रभावित किया है। अब तो उपभोक्ता जरूरी सामान लेने ही दुकान पर आ रहे हैं। फैक्टरियां बंद होने के कारण स्पलाई भी नहीं पहुंच रही हैं। लेकिन बाजार में मांग ही इन होने के कारण कपड़े सहित अन्य कारोबार का बुरा हाल है।  कोरोना के डर से कम ही आ रहे बाजार में ग्राहक कचहरी चौक के कारोबारी सुधीर प्रैटी का कहना है कि लॉकडाउन के बाद बाजार खुलने से उन्हें बड़ी उम्मीदें थी। लेकिन कोरोना के खौफ के बीच अभी तक कम ही लोग पहुंच रहे हैं। अभी हालात सामान्य होने में समय लगेगा। ग्राहक आवश्यक वस्तुओं के लिए दुकान में आते हैं। अचानक सब कुछ बंद हो जाने से उद्योग जगत भी प्रभावित हुआ है, जिसका सीधा असर सप्लाई पर पड़ा है।

105 बूथों पर पन्ना प्रमुखों ने बनाई रणनीति

पंचरुखी । भारतीय जनता पार्टी जयसिंहपुर मंडल के पन्ना प्रमुख की बैठक लगभग 105 बूथों पर संपन्न हो गई है। इसमें प्रदेश के दिशा-निर्देशों अनुसार  कोरोना वायरस व  संगठन की दृष्टि से सभी पन्ना प्रमुखों से क्षेत्र का हालचाल जाना और भविष्य में क्या करना है। इसमें मंडल अध्यक्ष् राम रतन शर्मा, जयसिंहपुर के विधायक रविंद्र  धीमान,  जिला अध्यक्ष हरिदत्त शर्मा, पूर्व मंडल अध्यक्ष प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य कुलवंत राणा व जिला महासचिव देवेंद्र राणा  मंडल पदाधिकारी शामिल  थे ।  इस मौके पर  प्रदेश सरकार की सराहना की कि उन्होंने दूसरे प्रदेशों में बसे मजदूर भाइयों को अपने घर में पहुंचाया ।