नक्शा पास करवाना आसान

By: Jul 31st, 2016 12:01 am

बिलासपुर — हाल ही में प्रदेश सरकार द्वारा नए राजस्व मुहालों में लागू किए गए टीसीपी एक्ट वाले क्षेत्रों में नगर परिषद ईओ व नगर परिषद पंचायत सचिवों को नई शक्तियां प्रदान की गई हैं। लोगों को नक्शा पास करना, भवन, सड़क, बिजली, पानी की एनओसी की मंजूरी के लिए दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, बल्कि यह मंजूरी अब नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी व नगर पंचायत के सचिव प्रदान करेंगे। ग्राम योजना अधिनियम 1977 की धारा 30 क, 31, 34, 38, 39 के अधीन निदेशक की टीसीपी शक्तियां ईओ व नगर पंचायत सचिव को प्रदान की गई है। यह अधिसूचना पहली सितंबर से लागू हो जाएंगी। प्लानर असिस्टेंट निशा कपूर ने इस आशय की पुष्टि की है। प्रदेश सरकार ने हाल ही में हिमाचल के नए क्षेत्रों में टीसीपी के दायरे में नए राजस्व मुहालों की हजारों हेक्टेयर भूमि शामिल की है। इस फेहरिस्त में नगर परिषद ठियोग, रोहडू, घुमारवीं, सुंदरनगर, बद्दी, कुल्लू नगर परिषद व नगर पंचायतों की फेहरिस्त में नारकंडा, चौपाल, मैहतपुर, गगरेट, नगरोटा, सुजानपुर, भोटा, जोगिंद्रनगर, तलाई, भुंतर, बैजनाथ के पपरोला, नेरचौक की नई भूमि को टीसीपी एक्ट के दायरे में लाया गया है।

अब एक छत के नीचे होगा सारा काम

प्रदेश सरकार ने फिलहाल इन क्षेत्रों के लोगों को सिंगल विंडो सिस्टम के तहत सुविधा मुहैया करवाने की राहत दी है। यानि लोगों को एक ही जगह से अनापत्ति प्रमाण पत्र मिल जाएंगे। इन क्षेत्रों के लोगों को एक साधारण प्रपत्र पर संबंधित कार्य के लिए नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी, नगर पंचायत सचिव के पास आवेदन करना पड़ेगा। निर्धारित समय में अधिकारियों को लोगों को मंजूरी देनी होगी।