कैटवाक पर गूंजी तालियां

By: Aug 29th, 2015 10:36 pm

मिसेज हिमाचल-2015मिसेज हिमाचल-2015सोलन — मिसेज हिमाचल-2015 ग्रैंड फिनाले में कांटे की टक्कर देखने को मिली। आत्मविश्वास से भरपूर महिलाएं जब रैंप पर उतरी तो पूरा हाल तालियों से गूंज उठा। धर्मपुर स्थित बावा रिजॉर्ट में शनिवार को देर रात तक मिसेज हिमाचल का ग्रैंड फिनाले चला। मिसेज हिमाचल के ग्रैंड फिनाले में कैटवाक के अलावा अन्य कई बहतरीन प्रस्तुतियां भी देखने को मिलीं। इस दौरान पूरा हाल दर्शकों से भरा रहा। प्रदेश सरकार के कई प्रशासनिक अधिकारियों ने भी कार्यक्रम का आनंद लिया। यह पहला मौका है जब हिमाचल प्रदेश में मिसेज हिमाचल का आयोजन किया गया। यही वजह है कि प्रदेश की कई प्रतिभाशाली महिलाओं ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। मिसेज हिमाचल में कैटवाक के अलावा काफी कुछ सीखने को मिला है। शनिवार को जब मिसेज हिमाचल के ग्रैंड फिनाले में महिलाएं मंच पर उतरी तो देखने वाले हैरान रह गए। विशेष रूप से प्रतिभागियों के परिवार से आए सदस्य काफी प्रभावित थे। लाल रंग  के गाउन में महिलाओं ने रैंप पर प्रोफे शनल मॉडल की तर्ज पर कैटवॉक  की। तीन अलग-अलग राउंड में महिलाएं काफी आक र्षक अंदाज में नजर आई।

सेलेब्रिटी जज ने दिए मॉडलिंग के टिप्स

मिसेज हिमाचल-2015धर्मपुर,सोलन— ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया ग्रुप आयोजित मिसेज हिमाचल 2015 के ग्रैंड फिनाले से पूर्व मिसेज इंडिया और सेलेब्रिटी जज बीर कौर ढिल्लों ने सभी प्रतिभागियों को मॉडलिंग के टिप्स दिए। साथ ही उन्होंने प्रतिभागियों से अपने सुनहरे अनुभव भी साझा किए। बीर कौर ढिल्लों ने कहा कि वह भी एक आम घरेलू महिला थी। मिसेज इंडिया का खिताब जीतने के बाद उनके जीवन में काफी परिवर्तन आया। उन्होंने मिसेज ग्लोब प्रतियोगिता में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया है। यह उनके लिए गर्व की बात है, एक आम महिला से वह खास महिला बन चुकी हैं। बीर कौर ढिल्लों ने कहा महिलाएं किसी से भी कम नहीं हैं। वे अपने दम पर दुनिया में पहचान बना सकती हैं। मिसेज हिमाचल 2015 सभी महिलाओं के लिए एक सुनहरा अवसर है मिसेज इंडिया में जाने का। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया ग्रुप के इस मंच से कई प्रतिभाएं उभर कर सामने आएंगी। कौर ने मिसेज हिमाचल 2015 के फाइनल की प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं व युवतियों को अपनी आत्मरक्षा के लिए हमेशा सजग रहना चाहिए। महिलाओं को आज के समय में खुद की रक्षा करने के लिए गुर सीखने चाहिए। उन्होंने प्रतिभागियों के साथ लगभग दो घंटे बातचीत की व उनका परिचय जाना। कौर ने ‘दिव्य हिमाचल’ मीडिया ग्रुप की प्रश्सा करते  हुए कहा कि मीडिया ग्रुप के मंच से ही ये प्रतिभाएं सामने आई हैं। साथ ही प्रतिभागियों से हुई  बातचीत से भी वह काफी प्रभावित हुईं।