लोगों को भी अब यह लगने लगा है कि यदि प्रकृति द्वारा प्रदत्त संसाधनों का लगातार दुरुपयोग किया गया तो वह दिन दूर नहीं, जब भीषण धन-जन की हानि होगी। लोगों की जागरूकता एवं समय की मांग ने इसे एक करियर के रूप में स्थापित कर दिया है, जिसे एनवायरनमेंटल साइंस (पर्यावरण विज्ञान) का नाम

जिला सिरमौर के मुख्यालय नाहन स्थित राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पिछले करीब छह दशक से जिला सिरमौर के साथ-साथ प्रदेश के लगभग सभी जिला के बेरोजगार युवाओं को व्यावसायिक कोर्स के माध्यम से आत्मनिर्भर बना रही है। अब तक इस आईटीआई से हजारों की संख्या में युवा देश-विदेश में नामी कंपनियों में रोजगार अर्जित कर

प्रधानमंत्री की चीन यात्रा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन दिन की चीन यात्रा के दौरान 22 बिलियन डॉलर के निवेश का करार हुआ। उनकी तीन देशों की इस यात्रा में चीन का दौरा ही सबसे अहम है। चीन भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक सहयोगी है। दोनों देशों के बीच 2014 में करीब 71 अरब डॉलर का

जलवायु परिवर्तन का मतलब जलवायु में आने वाले व्यापक बदलाव से है। उदाहरण के लिए समुद्री स्तर बढ़ रहा है और अन्य बातों के अलावा कृषि भी प्रभावित हो रही है। मौसम के स्वरूप में बदलाव खाद्य उत्पादन के लिए चुनौती पैदा कर सकता है, जबकि समुद्री स्तर में बढ़ोतरी तटीय जल भंडारों को दूषित

पर्यावरण विज्ञान में करियर संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने डा. सतीश भारद्वाज से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश… वर्तमान दौर में एनवायरनमेंट साइंस का करियर के रूप में क्या स्कोप है? आज के युग में पर्यावरण विज्ञान में अपार संभावनाएं हैं। जैसे-जैसे मनुष्य विकास के नया अयाम छू रहा

कामथ को कमान प्रारंभिक जीवन कुंदापुर वामन कामथ का जन्म 2 दिसंबर, 1947 को मंगलौर कर्नाटक में हुआ।  उन्होंने मेकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक उपाधि प्राप्त करने के लिए सूरथकल में स्थित कर्नाटक रीजनल इंजीनियरिंग कालेज( अब नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ  टेक्नोलॉजी, कर्नाटक) में दाखिला लिया। 1969 में केआरईसी से स्नातक उपाधि प्राप्त करने के बाद उन्होंने

रुद्रनाग में  ठंडे पानी का प्राकृतिक चश्मा है, जिसका उद्गम स्थल कोबरा सांप के फन के आकार की चट्टान है। अतः इसे रुद्रनाग का नाम दिया गया है। कहते हैं कि जब पांडव यहां पर आए थे, तो भीम ने एक बड़ी चट्टान को उठाकर नदी पर पुल बनाया था… कोकसर 10400 फुट की ऊंचाई

कांगड़ा — कांगड़ा के स्थानीय नगर परिषद मैदान में विशाल शॉपिंग मेले का आयोजन किया जा रहा है। 10 दिन तक चलने वाले इस मेले का विधिवत शुभारंभ 21 मई को किया जाएगा। मेले में देश भर से आए हुए कारीगरों द्वारा विभिन्न उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई गई है। कांगड़ा में इस स्तर का पहला

चंबा — हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य कामगार निर्माण बोर्ड के प्रदेशाध्यक्ष बावा हरदीप सिंह ने कहा है कि ऊना में दस करोड़ की लागत से कामगारों के नौनिहालों हेतु स्किल डवलेपमेंट इंस्टीच्यूट की स्थापना की जा रही है। इस इंस्टीच्यूट में प्रोफेशनल कोर्स की दीक्षा हासिल करने वाले नौनिहालों की सौ फीसदी प्लेसमेंट का

नगरोटा बगवां — विद्यार्थी जीवन में खेलों का विशेष महत्त्व है तथा प्रत्येक विद्यार्थी को अपने छात्र जीवन से ही खेल गतिविधियों में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करनी चाहिए। ये शब्द उपायुक्त सी पालरासू ने मंगलवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पठियार में तीन दिन तक चली नगरोटा बगवां शिक्षा खंड की लड़कियों की अंडर-19 खेलकूद