सुबह-सवेरे लाशों की तलाश

By: Sep 12th, 2012 12:08 am

पंचरुखी — आशापुरी-मल्ली-मकोल संपर्क मार्ग पर हुए सड़क हादसे में 34 लोगों की मौत हो गई, जबकि पांच लोग गंभीर घायल हो गए। सोमवार सायं 6.20 बजे हुई बस दुर्घटना में बचाव दल विशेषकर स्थानीय  बाशिंदों ने पांच घायल लोगों को निकाल लिया, जबकि सायं आठ बजे 55 वर्षीय ओम प्रकाश का शव भी ढूंढ निकाला। जानकारी के अनुसार पालमपुर-आशापुरी निगम की बस सायं पांच बजे पंचरुखी से अपने गंतव्य की ओर रवाना हुई, लेकिन बस मल्ली के निकट खतरनाक चढ़ाई पर 950 मीटर खाई में जा गिरी। स्थानीय बाशिंदों को जब इसकी खबर मिली तो वे घटनास्थल पर पहुंच गए। इसी बीच स्थानीय बाशिंदों ने जहां पांच घायलों को जिसमें बंदना देवी (45) आशापुरी निवासी,  बेबी (5) आशापुरी, संजीव कुमार (25) आशापुरी, रंजना देवी व परिचालक सुमित कुमार (25) टटैहल निवासी को ढूंढ निकाला। मंगलवार सुबह छह बजे फिर बचाव दल ने यात्रियों को ढूंढने का कार्य आरंभ किया व सात बजे तक उन्होंने पहला शव ढूंढ निकाला। सेना ने स्थानीय युवा, पुलिस व फायर बिग्रेड के सहयोग से दोपहर 12 बजे तक 34 मृतकों को निकाल लिया, जिसमें आशापुरी के तिलक राज (44), आशीष कुमार (17), अनिल कुमार (20), मेहर चंद (32), मंजुदेवी (19), मंजु देवी (25), संजय कुमार (38), अभिषेक (14), मुंशी राम (75), रमेश (44), जनक (45)के शवों को निकाला गया, जबकि मल्ली गांव के निवासी प्रवीण (45), जनता देवी (40), लल्बु (5), अक्षय (16), रतन चंद (35), ओम प्रकाश (55) को निकाल लिया। साथ ही निस राम (70) बनघट, बलदेव परमार चालक (57), संजय कुमार (20) निरमंड, तुलसी राम (45) कैलाशपुर, रेश्मा देवी (चमोठु), घटां देवी (44) द्रमण, शकुंतला (42) द्रमण तथा चिड़ी देवी (70) कैलाश पुरा का शव भी निकाल लिया।  एसडीएम डा. विक्रम महाजन ने कहा कि मृतकों को फौरी राहत व घायल के निःशुल्क इलाज के लिए सहायता राशि मुहैया करवाई है।