मेयर से 33 सवाल

By: Sep 12th, 2012 12:08 am

शिमला — नगर निगम ने मंगलवार से वार्ड सभाआंे का आयोजन शुरू कर दिया है। निगम इतिहास में पहली दफा आम जनता से जुड़ने की कवायद छेड़ी गई है। इसके तहत सभी वार्डों में पार्षदों की अध्यक्षता में वार्ड कमेटियां बनाई जाएंगी। वार्ड सभा का आयोजन शहर के पहले वार्ड भराड़ी से हुआ जहां महापौर संजय चौहान मौजूद रहे। हालांकि भाजपा के पार्षद इन वार्ड सभाओं का विरोध कर रहे हैं मगर कम्युनिस्ट पार्टी ने इसकी शुरुआत कर दी। महापौर संजय चौहान ने कहा कि इसका मुख्य ध्येय आम जनता से जुड़ना है। उन्होंने कहा कि यह महज दिखावा नहीं है बल्कि संविधान के 74वें संशोधन के मुताबिक आम आदमी की सहभागिता को सुनिश्चित करने के लिए संशोधन के दिशा निर्देशों के तहत ही वार्ड सभा को बुलाया गया है। उन्होंने मौके पर करीब 33 समस्याओं को सुना और उन्हें दूर करने के लिए प्रशासन को निर्देश दिए । 15 समस्याओं को मौके पर ही निपटाया गया।  नगर निगम के उपमहापौर टिकेंद्र पंवर ने कहा कि शिमला में हैदराबाद नगर निगम की तर्ज पर वार्ड कमेटियों का गठन किया जाएगा। वार्ड का विकास कैसा हो और वार्ड की समस्याओं को किस प्रकार दूर करना है इसके लिए कमेटियों का गठन जरूरी है। यहां नगर निगम के अधिकारी भी मौजूद रहे। वार्ड सभा के मौके पर वार्ड नं. एक के लागों ने वार्ड की समस्याओं को महापौर के सामने रखा। क्लस्टन निवासी नीना पामा ने कहा कि क्लस्टन में सीवरेज की समस्या से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा टैक्सी सेवा को भी दुरुस्त किया जाए, ताकि वरिष्ठ नागरिकों सहित आम आदमी को समस्या का सामना न करना पड़े। वहीं क्लस्टन के अन्य लोगों ने महापौर को शिकायत की कि क्लस्टन में एक जगह नगर निगम ने अवैध निर्माण रोका था लेकिन उसी जगह पर अवैध निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा स्थानीय कारोबारी सुनील ने आकलैंड टनल के ऊपर बनी दुकानों को व्यवस्थित करने की मांग उठाई। स्थानीय निवासी सतपाल ने कहा कि शील महल के साथ लगते नाले का रख रखाव सही तरीके से किया जाए। इस पर महापौर ने संबंधित जेई को इसको ठीक करने के निर्देश दिए।