भाजपा वन अधिकार नियम लागू करे

By: Sep 12th, 2012 12:08 am

रिकांगपिओ — पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष सत्यजीत नेगी ने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार कंेद्र सरकार के वन अधिकार अधिनियम को अब तक लागू नहीं कर पाई, न ही नौतोड व टीडी मामला का कोई स्थायी हल निकाल पाया है। श्री नेेगी ने कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार से लिखित रूप से आग्रह किया है कि वह हस्तक्षेप कर प्रदेश भाजपा सरकार को इन अधिनियमों का शीघ्र लागू कराए, ताकि केंद्र सरकार ने जो अधिनियम जनजातीय क्षेत्रों के बनाया है पूरा हो सके। इस अवसर पर उन के साथ यूथ महासचिव ठाकूर विष्ट, पूर्व कार्यालय सचिव राजकुमार नेगी, पूर्व महासचिव समत नेगी भी उपस्थित थे। श्री नेगी ने कहा कि वन भूमि अधिकार अधिनियम भाजपा के ढुलमूल रवैया के कारण आज तक लागू नहीं हुआ है, जिसमें जनजातीय क्षेत्रों के लोगों में रोष बना है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग से मांग किया है कि जनजातीय क्षेत्रों में पहले चुनाव कराना गलत है। जनजातीय क्षेत्रों के वोटरों पर दबाव न पडे़ मतदाताओं को अपना मताधिकारी का प्रयोग खुले रूप में हो, इसके लिए पूरे प्रदेश में एक साथ चुनाव करवाया जाना चाहिए। श्री नेगी ने हाल ही में मुख्यमंत्री प्रो प्रेम कु मार धूमल के किन्नौर प्रवास किन्नौर के जनता के साथ निराशा लगी है। लोगों को सीएम दौरा में कई विकासात्मक कार्यों के  घोषणाओं का भरोसा था, मगर भाजपा के आपसी हो हल्ला से सीएम घोषणा तक नहीं कर पाए। श्री नेगी ने कहा कि सीएम का कहना कि किन्नौर में परियोजना कांग्रेस के समय हुआ है, सरासर गलत है। नेगी ने कहा कि बास्पा-2 तीन सौ मेगावाट परियोजना तात्कालीन सीएम शांता कुमार की देन है। उन्होंने ही यह परियोजना जेपी कंपनी को दिया, जबकि विद्युत बोर्ड स्वयं इस कार्य को करना चाहते थे, लेकिन भाजपा ने जेपी कंपनी को यह काम दिया, बास्पा परियोजना से ही जेपी का अगमन हुआ व करछम—वागंतू परियोजना भी उसे मिला। आज इसी खामियों के चलते ही किन्नौर का क्षेत्र प्राकृतिक आपदाओं से जुझ रहा है।