बदलाव की आंधी में टिकट आबंटन डांवांडोल

By: Sep 2nd, 2012 12:15 am

कांग्रेस की असल जंग टिकटों में छिपी है। वीरभद्र सिंह समर्थक 45 से भी ज्यादा टिकटें अपने समर्थकों को दिलाने के प्रयास में हैं। इस लड़ाई में सीएलपी नेता विद्या स्टोक्स भी उनके साथ खड़ी हैं। जाहिर है टिकटों का यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है। ऐसा ही प्रयास आलाकमान के नजदीक कहे जाने वाले नेता आनंद शर्मा व उनके समर्थक जिन्हें हिमाचल में वीरभद्र सिंह का विरोधी माना जाता है, अंदरखाते कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि इस गुट का प्रयास है कि परंपरागत चेहरों को किनारे लगाकर ऐसे नए चेहरों को आगे लाया जाए, जो अपने-अपने क्षेत्र में प्रभावी समझे जाते हैं। इससे न केवल वीरभद्र सिंह के लिए चुनौती खड़ी की जा सकती है, बल्कि आने वाले समय में यदि समय अनुकूल रहे, तो नंबर भी गेम भी अपने हक में की जा सके। इसी के चलते अभी तक भी पूर्व अध्यक्ष कौल सिंह ठाकुर को सीएलपी नेता बनाए जाने की कवायद पर विराम लगाने का प्रयास चल रहा है। यदि वह सीएलपी नेता घोषित हो जाते हैं तो तकनीकी तौर पर उन्हें स्क्रीनिंग कमेटी में लिया जाएगा। जाहिर सी बात है वह भी अपने समर्थकों को टिकट दिलवाने में सफल हो सकते हैं।