चंबा में नौकरी के लिए सड़कों पर उतरे ट्रेंड जेबीटी

By: Mar 9th, 2012 12:05 am

चंबा — जेबीटी प्रशिक्षण प्राप्त बेरोजगार संघ ने प्रदेश सरकार पर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने व दोहरी नीति से कार्य करने का आरोप लगाते हुए जिला मुख्यालय में रैली निकाली तथा टेट के विरोध में सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की। संघ ने उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। संघ के अध्यक्ष हुगत राम की अगवाई में निकाली गई रैली पूरे बाजार से नारेबाजी करती हुई उपायुक्त कार्यालय पहुंची, जहां उन्होंने ज्ञापन सौंपा। संघ का मानना है कि जेबीटी सत्र 2008-10 के प्रशिक्षित अध्यापक समय-समय पर विभाग तथा सरकार से आग्रह कर चुके हैं, मगर पिछले 18 माह से बेरोजगारी की मार झेल रहे रहे हैं। इसके विपरीत सरकार प्रशिक्षित अध्यापकों पर जबरन टेट की शर्त थोपकर दोहरी नीति अपना रही है, क्योंकि शिक्षा विभाग इसी बैच के भूतपूर्व सैनिकों को बिना टेट के दिसंबर, 2011 में नियुक्ति दे चुका है। संघ ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि सत्र 2008-10 के सभी प्रशिक्षत जेबीटी अध्यापकों को जल्द बिना टेट के नियुक्तियां दी जाएं। हुगत राम ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा 15 अगस्त, 2011 को जेबीटी के 1313 पदों को भरने की घोषणा की गई थी, मगर विभाग की लापरवाही व नकारात्मक रवैये के कारण स्वीकृत पदों को भरने के स्थान पर सत्र वर्ष 2008-10 पर टेट लागू कर रहा है, जो किसी भी शर्त पर मान्य नहीं होगा। किसी भी मायने में दोहरा मापदंड सही नहीं है।