कांगड़ा में 143 नए एचआईवी पॉजिटिव

By: Nov 2nd, 2010 11:27 pm

अजय शर्मा, धर्मशाला

कांगड़ा जिला में एचआईवी पॉजिटिव के एक सौ से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इस वर्ष नौ महीनों के भीतर ही उक्त मामले सामने आए हैं। यानी जिला में हर माह औसतन 20 से 25 मामले एचआईवी पॉजिटिव के सामने आ रहे हैं। लिहाजा स्वास्थ्य विभाग के एड्स जागरूकता अभियान में कामयाबी साफ दिखाई दे रही है। अब तक जिला भर में 1190 एचआईवी पॉजिटिव के केस सामने आ चुके हैं। जिला एड्स परियोजना अधिकारी डा. राजेश सूद ने खबर की पुष्टि की है। सूचना के अनुसार कांगड़ा जिला में स्वास्थ्य विभाग ने स्वैच्छिक जांच के लिए कई स्वास्थ्य केंद्रों में सुविधाएं प्रदान की हैं। इस वर्ष 30 सिंतबर तक जिला में 12983 लोगों ने स्वैच्छिक जांच करवाई है, जिनमें से 143 मामले एड्स संक्रमित हैं। सूचना के अनुसार जिला में स्वास्थ्य विभाग के समक्ष वर्ष 2007-08 में 1033 लोगों ने अपनी इच्छा से अपनी जांच करवाई। इस दौरान 165 मामले एचआईवी पॉजिटिव के सामने आए हैं। वर्ष 2008-09 में जिला में 6402 लोगों ने अपनी जांच करवाई, जिनमें 225 एड्स से संक्रमित पाए गए। वर्ष 2009-10 में इस भयानक बीमारी को लेकर प्रारंभ किए गए अभियान से जनता में काफी हद तक जागरूकता आई है। यही वजह रही है कि उक्त वर्ष में 21457 लोगों ने विभाग के पास अपनी जांच करवाई, जिसके फलस्वरूप 246 एचआईवी संक्रमित पाए गए। सूचना के अनुसार चालू वर्ष 2010-11 में 30 सितंबर तक जिला में 12983 लोगों ने स्वैच्छिक एड्स की जांच करवाई हैं, जिनमें 143 मामले अब तक सामने आ चुके हैं। विभाग का मानना है कि सामने आए मामले लंबे समय से एचआईवी पॉजिटिव हो सकते हैं। विभाग का कहना है कि जिला में एड्स के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए प्रारंभ किए गए अभियान का ही नतीजा है कि लोग अपनी मर्जी से अपना एचआईवी टेस्ट करवाने के लिए आगे आ रहे हैं। कांगड़ा जिला के जिला एड्स परियोजना अधिकारी डा. राजेश सूद का कहना है कि इस वर्ष सितंबर माह तक 143 मामले एचआईवी पॅजिटिव के सामने आ चुके हैं। उनका कहना है कि विभाग जिला में जनता को इस बीमारी के प्रति जागरूक करने में पूरी तरह से जुटा है। एचआईवी से ग्रसित लोगों के लिए भी स्वास्थ्य विभाग पूरे प्रयास कर रहा है। एचआईवी पॉजिटिव लोगों के आश्रितों व अनाथ बच्चों (जिनकी उम्र 1 से 18) को आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जा रही है। विभाग हर तीसरे माह 300 से 800 रुपए की आर्थिक सहायता मुहैया करवा रहा है। कांगड़ा में 261 एचआईवी पॉजिटिव लोगों के बच्चों को विभाग आर्थिक सहायता मुहैया करवा रहा है।